उतरप्रदेश के अपराधी कपती है इनके नाम से प्राची सिंह का जीवनी | IPS Prachi Singh Biography In Hindi 

भारतीय लोक सेवा आयोग UPSC Exam में लगभग 8 से 10 लाख लोग फॉर्म भरते है लेकिन उनमे से कुछ लोग हीं पास कर पते है। फिर भी उन्होंने UPSC Exam में भाग ली और प्रथम अटेम्प्ट में ही एक IPS officer बनी।

आज हम एक ऐसे  महिला IPS Officer के बारे में बात करने जा रहे जिनके नाम से कांपते है उतरप्रदेश के अपराधी। उन्होंने इस पद को पाने के लिए काफी मेहनत और संगर्ष करना पड़ा। उन्हें मुकाम तक पहुचने के लिए उन्हें भारत के सबसे बड़े एग्जाम UPSC को पास की है। तो आइये हम इस पोस्ट के माध्यम से जानते है की प्राची की जीवन के जीवन के बारे में जन्म से ले कर वर्त्तमान समय तक।

संक्षिप्त जानकारियां 

नामप्राची सिंह
उपनामप्राची
प्रोफेशनIPS अधिकारी
प्रसिद्धिअपने काम के लिए जानी जाती है
जन्म22 अप्रैल1992
जन्म स्थानकानपुर, उतररदेश
उम्र30 साल
स्कूल_____
कॉलेजनेशनल लॉ युनिवर्सिटी ऑफ़ भोपाल,
इलाहाबाद विश्वविद्याल
योग्यतास्नातक, LLB
आंखों का रंगकल
बालों का रंगकल
राष्ट्रीयताभारतीय
कॉलेज का नामराष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय
योग्यताBA एलएलबी में ग्रेजुएशन 
नेटवर्क$1 से $10 मिलियन लगभग
आए का साधनआईपीएस अधिकारी
जन्म स्थानकानपुर,उत्तर प्रदेश

प्राची शिंह का जन्म और प्रारंभिक जीवन ( Prachi singh Birth and early life)

प्राची शर्मा का जन्म 22 अप्रैल 1992 को उतरप्रदेश के कानपूर में एक मिडिल क्लास परिवार में हुआ था,  उनके पिता जी का नाम राम सिंह गौतम चौहान है, जो एक पीसीआर अधिकारी है। और उनकी पता का नाम  उषा सिंह है और उनकी माँ ने तीन  विषयों में  MA  की डिग्री प्राप्त की है। उनके भाई का नाम अश्वर्धन  है जो फ़िलहाल अभी सेंट पीटर्स कॉलेज में पढाई कर रहा है।

उनके पिता मुख्य रूप से फतेहपुर के रहने वाले हैं। लेकिन जब के कारण उन्हें कानपुर शिफ्ट होना पड़ा। उनका जन्म एक शिक्षित परिवार में हुआ था इसलिए उन्हें बचपन से ही पढाई लिखी पर ज्यादा फोकस किया गया,  वैसे प्राची भी बचपन से ही पढाई में बहुत अच्छी है। उन्होंने बहुत ही कम उम्र से एक आईपीएस अधिकारी बनाने की ठान ली थी।

प्राची सिंह की शिक्षा (parchi singh education qualification)

प्राची ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने ही क्षेत्र से पुरी की से पूरी की। 10वीं दसवीं बोर्ड एग्जाम में उनका कुल मार्क्स 86% और 12वीं के एग्जाम में उनका कुल मार्क्स 85% है। और आगे की पढ़ाई के लिए भोपाल शिफ्ट हो गई।

और वहां नेशनल लॉ युनिवर्सिटी ऑफ़ भोपाल से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की, उसके बाद उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से LLB की पढ़ाई पूरी की। आपको बता दे की भोपाल लॉ यूनिवर्सिटी और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में अपने बैच का सेकंड टॉपर रह चुकी है।

प्राची सिंह का परिवार (Parchi singh Family)

पिता (Father)राम सिंह गौतम चौहान
माता (Mother)ऊषा सिंह
भाई  (Brother)अश्वर्धन सिंह

प्राची सिंह का करियर (Prachi singh career)

प्राचीन ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अपने बचपन के सपने को साकार करने के लिए UPSC एग्जाम की तैयारी करने लगी। इस एग्जाम की तैयारी के लिए उन्होंने रात दिन एक कर दिया, वह प्रतिदिन 12 से 13 घंटा पढ़ाई किया करती थी। काफी मेहनत और संघर्ष करने के बाद फाइनली साल 2017 के UPSC एग्जाम की पेपर दी। 

प्राची ने पहले ही अटेंप्ट में भारत की सबसे कठिन एग्जाम UPSC को क्रैक कर लिया। और वह बचपन सर जिसकी सपना देख रही थी उसे पूरी किया। वर्तमान समय में वह भारत के एडीसीपी नॉर्थ के पद पर कार्यरथ है।

प्राची सिंह की UPSC के लिए संघर्ष (UPSC struggle life)

प्राची सिंह को UPSC की तैयारी के लिए प्रतिदिन उन्हें 12 से 13 घंटे की पढ़ाई करनी पड़ती थी। और काफी मेहनत करना पड़ता था। उन्हें यूपीएससी की एग्जाम की तैयारी में सबसे ज्यादा मदद उन्हें एकेडमी और डायरेक्टर अमित सिंह का मार्गदर्शन में बहुत बड़ा योगदान रहा है। 

वह एक  शिक्षित परिवार से है, इसलिए उन्हें परिवार से भी उन्हें UPSC की तैयारी अच्छा मदद मिली। उनके माताजी से भी अच्छा सपोर्ट मिला क्योंकि उनकी मां ने तीन विषयों में MA की डिग्री प्राप्त की है। 

प्राची सिंह का विवाद (Prachi Singh controversy)

साल 2021 में विशाल नाम का लड़का ने आत्महत्या कर लिया था और अपने सुसाइड नोट में मौत का कारण प्राची सिंह को बताया था। 

विशाल दे प्राची प्रिया आरोप लगाया था कि उन्होंने झूठे आरोप में गिरफ्तार करवा कर मेरे करियर को बर्बाद करती है।

प्राची सिंह का कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां ( Prachi Singh about some interesting facts)

  • प्राची सिंह का जन्म कानपुर के उत्तर प्रदेश में हुआ था पर उनका परिवार मुख्य रूप से फतेहपुर के रहने वाले है। 
  • वह अपनी प्रोफेशन में काफी प्रसिद्ध है और उनकी काफी चर्चा होती है। 
  • साल 2022 में प्राची ने महिला सशक्तिकरण के लिए बहुत बड़ा महत्वपूर्ण कदम उठाई थी, जिसके तहत उन्होंने लखनऊ में कार्य करते हुए पिक बोथ मिशन का आयोजन किया था। इस मिशन का खास बात यह था कि अगर किसी महिला पर घरेलू शोषण किया जा रहा है तो आसानी से पुलिस की मदद ले सकती है। 
  • प्राची सिंह को सोशल मीडिया इंस्टाग्राम अकाउंट पर काफी लोग पसंद करने वाले हैं और उनका फॉलोअर लगभग 80 k से भी अधिक है।

अन्य पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top