IAS kumar Anurag Success Story: बिहार के इस ऑफिसर की कहानी भी 12th fail मनोज शर्मा के जैसा है। 

IAS kumar Anurag Success Story: 12t Fail फिल्म तो आप सबने देखा होगा जिसमें IPS mमनोज कुमार शर्मा  और श्रद्धा की लाइफ पर बनाया गया था। जिसमे उन दोनो का स्ट्रगल लाइफ और प्रेम कहानी को दिखाया गया था। इस फिल्म को देखने के लिए छात्रों में काफी ज्यादा भीड़ उमरा था। आजा मैंहम एक ऐसे ही IAS officer के बारे में बात करने जा रहे हैं जिनके लाइव का संघर्ष और मेहनाज IPS मनोज कुमार शर्मा से मिलती-जुलती है। 

जी हां हम बात कर रहे हैं IAS कुमार अनुराग के बारे में जो वर्तमान समय में भागलपुर में डीसी के रूप में कार्यरत हैं। हालांकि उनके जीवन में श्रद्धा जैसी कोई लड़की नहीं थी लेकिन फिर भी उनकी कहानी आईपीएस मनोज शर्मा की कहानी से रत्ती बार भी काम नहीं है। 

कहां जाता है, की कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, यह कहावत उनके जीवन पर सटीक बैठता है। वे जन्हा भी जाते हैं वो अपने सफलता और असफलता बताते हैं। और कहते हैं की असफलताओं से कुछ नहीं होता, हमें ईमानदारी से मेहनत करते जाना है एक दिन सफलता जरूर मिलेगी।  

इस कुमार अनुराग की तारीफ स्वयं भागलपुर के जिला अधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने भी शिक्षा संवाद के दौरान किया था। आज के समय में भागलपुर जिले के रोल मॉडल बन चुके हैं। और कई बच्चेउनसे काफी प्रेरित हुआ। 

Borth and family 

आईएएस कुमार अनुराग मुख्य रूप से कटिहार जिले के रहने वाले हैं। उनका जन्म एक मध्यम वर्ग के परिवार में हुआ था। उनके पिता जी का नाम दिलीप कुमार जो एक डॉक्टर है और मां एक हाउस वाइफ औजीवनक बड़ा भाई है इसका नाम कुमार हिमांशु है जो हैं, जो पेशे से एक डॉक्टर है। उनका जन्म एक शिक्षित परिवार में हुआ था इसलिए मैं पढ़ाई पर ज्यादा फोकस किया गया।

Education qualification

उनका प्रारंभिक शिक्षा कटिहार में ही हुआ था। उसके बाद छठी के बाद उन्होंने अपना नामांकन सिलीगुड़ी में नामांक करवाए। उन्होंने बताया कि जब इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर रहे थे तो वह बोर्ड के प्री एग्जाम में गणित विषय में फेल हो गए थे। और घर वालों से उन्हें काफी डांट पड़ी थी।

इसके बाद उन्होंने गणित विषय पर काफी मेहनत की और इस बार के बोर्ड एग्जाम में फर्स्ट डिवीजन से पास हो गई। और गणित में उनको 94 नंबर आया था और सभी सब्जेक्ट में उनका साधारण नंबर था। इस कारण से उनका आदर विषय कमजोर हो गया। और जब मेडिकल और इंजीनियरिंग की एग्जाम दिए तो उसमें उनका रैंक अच्छा नहीं रहा था। 

उसके बाद उन्होंने ग्रेजुएशन के लिए श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स  B. A में नामांकन करवाए। यहां तक भी उन्हें असफलता पीछे नहीं छोड़ी। और बा के दूसरे साल में अर्थशास्त्र के माइक्रोइकोनॉमिक्स में फेल हो  गया था। फिर भी उन्होंने हिम्मत नहीं है ईमानदारी से मेहनत करते गेट।  

UPSC Preparation 

UPSC 1st attempt

उसके बाद में यूपीएससी का तैयारी करने लगे। उन्होंने एनसीआरटी से अपनी बेसिक कॉन्सेप्ट को पहले क्लियर किया। सिलेबस को टारगेट की। और साल 2017 में उन्होंने यूपीएससी की पहला Exam दिए। इस एग्जाम को उन्होंने सफलता पूर्व के क्लियर कर लिए, और  ऑल इंडिया रैंक 677 आया था। अरुण इंडियन इकोनामी सेवा में कार्य करने का मौका मिला। 

UPSC 2nd attempt

पर वही इस पोस्ट से खुश नहीं थे इसलिए उन्होंने एक बार और यूपीएससी एग्जाम देने की मन बनाया। उसके ठीक अगले साल 2018 में इकोनॉमिक्स को ऑप्शनल विषय बनाकर UPSC Exam दिए और इस बार उनका ऑल इंडिया रैंक 48 आया और एक सफल आईएएस अधिकारी बने।

अनुराग ने कहा हम कभी टॉपर नही रहे है।

इस कुमार अनुराग ने बताया कि हम कभी किसी भी क्लास में टॉपर नहीं रहे है। हम एक साधारण स्टूडेंट की तरह थे। लेकिन हमारे अंदर कुछ करने का जज्बा था। और जब भी मैं असफल होता था तो घर वाले की स्पोर्ट होती थी। चल कोई बात नहीं मेहनत करते जा। उनके पिता ने उन्हें समझाया कि तुम्हारी इच्छा जिस क्षेत्र में जाने की है तुम उसे क्षेत्र में जाओ और सफलता जरूर मिलेगी। और और उसमें बेहतर भी कर पाओगे। 

कुमार अनुराग का युवाओं और अभिभालो से अपील 

कुमार अनुराग ने कहा कि आज के समय में युवा यह तय नहीं कर पा रहा है कि हमें करना क्या है। इसलिए हमें सभी युवाओं से अनुरोध है कि पहले अपना लक्ष्य करें। उसके बाद उसे लड़की को पाने के लिए ईमानदारी से मेहनत करें। 

कुमार कुमार अनुराग ने अभिभको के लिए ही कुछ कहा। आज के समय में अभिभावक बच्चों पर नंबर के चक्कर में दबाव बनाते रहते है। यह बन बच्चो की भवष्य को नही करता। उसके अंदर के हुनर को तलाशे और जिसमे उसका रुचि है उसमे साथ दे।


Read this also: IAS Success Story: ऑल इंडिया टॉपर बनी कर्नाटक की बेटी रचा इतिहास जाने सक्सेस स्टोरी

Read this also: UPSC Success  Story: 10वीं और 12वीं में फेल, फिर भी IAS Officer बनी अंजू शर्मा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top